बच्चों का आधार कार्ड कैसे बनवाएं 2024?

आज आधार कार्ड भारत के प्रत्येक नागरिक के लिए बहुत ही आवश्यक दस्तावेज है। यह भारतीयों के लिए एक पहचान पत्र का कार्य करता है। प्रशासन ने अब जन्म लेने वाले बच्चे से लेकर बुजुर्ग व्यक्तियों तक के आधार कार्ड के बनवाने की व्यवस्था की है।

दोस्तों इस पोस्ट में हम 1 से 5 वर्ष के नवजात बच्चों के आधार कार्ड के संबंध में समस्त जानकारियां प्रदान करेंगे। जैसे कि बच्चों का आधार कार्ड कैसे बनवाएं? यदि आपको भी अपने बाल आधार कार्ड का निर्माण करना है तो पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़ें एवं सभी डिटेल को फॉलो करें.

अब भारत सरकार ने आपके बच्चों के लिए भी पहचान पत्र की व्यवस्था की है। यदि आपका बच्चा जीरो से 5 साल के अंदर आता है तो आप अपने बच्चों का आधार कार्ड बनवा सकते हैं। इस आधार कार्ड को नीला आधार कार्ड ( Blue Aadhar) या बाल आधार कार्ड कहा जाता है। यह आधार कार्ड परमानेंट नहीं होता है। परमानेंट आधार कार्ड के लिए बच्चों को 18 साल का होना आवश्यक है। इसलिए बच्चों का आधार कार्ड अस्थाई होता है। आधार कार्ड अर्थात बच्चों के आधार कार्ड के माध्यम से बच्चों का स्कूल में एडमिशन बैंक में जॉइंट खाता एवं अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त होता है।

सामान्य जानकारी :

पोस्ट बाल आधार कार्ड हेतु आवेदन
पोर्टल UIDAI
लाभार्थी 0 से 5 वर्ष उम्र के बच्चे
उद्देश्य बाल आधार बनवाकर लाभ लें
आवेदन ऑनलाइन / ऑफलाइन
आधिकारिक uidai.gov.in

सरकार ने हाल ही में निर्धारित किया है कि अब 5 साल या उससे कम उम्र के बच्चों के लिए बाल आधार कार्ड अनिवार्य होगा। इस महत्वपूर्ण निर्णय के परिणामस्वरूप, यूआईडीएआई ने बाल आधार कार्ड को लेकर एक घोषणा की है। अब सभी राज्यों और केंद्र सरकारी योजनाओं और सेवाओं का लाभ उठाने के लिए इस बाल आधार कार्ड की आवश्यकता है।

इसके अलावा, बैंकों में भी इसके बिना कोई कार्य संभाव नहीं होगा। सरकार ने अब बच्चों के लिए बाल आधार कार्ड बनवाने का निर्देश जारी किया है। यह नया नियम देशवासियों को यह योग्यता देता है कि वे अपने छोटे बच्चों को इस अद्वितीय पहचान पत्र के लिए पंजीकृत कराएं ताकि उन्हें सरकारी योजनाओं और बैंक सेवाओं का सही समय पर लाभ मिल सके।

यदि आपके बच्चे की आयु 5 वर्ष से कम है तो आपको अपने बच्चों का आधार कार्ड बनवाने से पहले आधार कार्ड की कुछ विशेषताएं जान लेनी चाहिए। बच्चों के आधार कार्ड की विशेषताएं निम्नलिखित हैं।

  • 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों का आधार कार्ड अर्थात पहचान पत्र बनता है।
  • बच्चों का आधार कार्ड नीले कलर का होता था जिसे ब्लू आधार कार्ड भी कहा जाता है।
  • ब्लू आधार कार्ड अर्थात बच्चों के आधार कार्ड में बच्चों के किसी प्रकार की बायोमेट्रिक को नहीं लिया जाता है। बच्चों की आयु 5 साल हो जाती है तो उसके पश्चात ही बच्चे का बायोमेट्रिक अर्थात उंगलियों के निशान आइरिस इत्यादि का प्रयोग आधार कार्ड में किया जाता है
  • बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए माता-पिता को रिफरेंस के रूप में अपना आधार कार्ड प्रदान करना होता है।
  • यह जब अपने बच्चों का आधार कार्ड बनाना चाहते हैं तो यह प्रक्रिया बिल्कुल निशुल्क है।

बच्चों का आधार कार्ड कैसे बनवाएं :- 0 से 5 साल के बच्चे का आधार कार्ड निर्माण प्रक्रिया वयस्क आधार कार्ड निर्माण की प्रक्रिया से अलग होती है। अपने बच्चों के आधार कार्ड आप दो तरीके से बनवा सकते हैं।

पहला तरीका:- आधार नामांकन केंद्र पर जाकर आधार बनवाएं।

दूसरा तरीका:- मोबाइल द्वारा रजिस्ट्रेशन कर आधार बनवाएं।

उपर्युक्त दोनों तरीकों से बच्चों के आधार कार्ड निर्माण की प्रक्रिया को विस्तार पूर्वक देखते हैं।

अपने 0 से 5 साल के बच्चे के आधार कार्ड निर्माण के लिए आपको अपने पास के आधार नामांकन केंद्र पर जाना होगा। यदि आपको अपने आधार नामांकन केंद्र की जानकारी नहीं है तो आप ऑनलाइन आधार नामांकन केंद्र का पता लगा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको आधार नामांकन फॉर्म भरना होगा जिसमें पूछी गई समस्त जानकारी को उचित तरीके से भरें.
  • आधार नामांकन फार्म में माता-पिता में से किसी एक को अपने आधार कार्ड नंबर की जानकारी देनी होती है। अतः माता-पिता में से कोई एक अपना आधार कार्ड अवश्य ले जाएं।
  • बच्चों की बायोमेट्रिक की जानकारी माता-पिता के आधार कार्ड से ही ली जाएगी।
  • आधार पर लगाने के लिए बच्चों की एक तस्वीर ली जाएगी।
  • आधार में एड्रेस की जानकारी के लिए माता-पिता का एड्रेस ही लिया जाएगा।
  • बच्चों का आधार नामांकन फार्म अपना आधार कार्ड एवं बच्चों का जन्म सर्टिफिकेट इत्यादि समस्त डॉक्यूमेंट/ दस्तावेज आधार नामांकन केंद्र पर जमा करें।
  • आधार नामांकन केंद्र संचालक आपको बच्चे के आधार की एनरोलमेंट की स्लिप प्रदान करेगा।

इस एनरोलमेंट स्लिप में दिए गए आधार रजिस्ट्रेशन नंबर के माध्यम से आप अपने बच्चों के आधार कार्ड आवेदन का स्टेटस देख /चेक कर सकते है।

मोबाइल से जीरो से 5 साल के बच्चों के आधार कार्ड बनवाने की प्रक्रिया हेतु रजिस्ट्रेशन के लिए आपको Postinfo App डाउनलोड करना होगा।

Postinfo mobile App ओपन करने के पश्चात आपको सबसे पहले ऑप्शन Service Request में क्लिक करना होगा।

baal-aadhaar-card-online-apply

Service request पर क्लिक करने के पश्चात आपको एक फार्म प्राप्त होगा जिसे आपको भरना होगा। इस फॉर्म में दी गई जानकारी जैसे नाम एड्रेस पिन कोड मेल ऐड्रेस mobile number इत्यादि को भरना होगा।

इस फॉर्म में mobile number भरने के पश्चात आपको सिलेक्ट सर्विस का विकल्प मिलेगा जिससे ओपन जिस पर क्लिक करने के बाद नया इंटरफेस खुलेगा जिसमें आपको IPPB – AadharService पर क्लिक करना होगा।

इसके पश्चात दूसरे बॉक्स में क्लिक करने पर आपको UIDAI- Child (0-5Year) के विकल्प को सेलेक्ट करना होगा। अंत में आपको के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

अब आपको अपना ओटीपी भरकर Confirm Service के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके पश्चात आपका रिक्वेस्ट सक्सेसफुली सबमिट कर दिया जाता है।

आपकी सर्विस रिक्वेस्ट कंफर्म होने के पश्चात आपको Request Reference Number दिया था जिसे आपको नोट कर लेना होगा। इसी रिफरेंस नंबर के माध्यम से आप अपने बच्चों के आधार कार्ड के आवेदन के स्टेटस को देख सकते हैं।

जैसे ही आपका रिक्वेस्ट Indian Post Payment Bank से कंफर्म कंफर्म होगा उसके पश्चात Indian Post Payment Bank का एक कर्मचारी (जिसके पास आधार निर्माण ID होगी) वह कर्मचारी आपके घर पर आएगा वह आपके बच्चे की फोटो लगा एवं आपके बच्चे के आधार कार्ड के लिए एनरोलमेंट करेगा।

इस प्रक्रिया की पश्चात आप अपने बच्चों के आधार कार्ड को घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं।

यदि आपके बच्चे की उम्र 5 वर्ष से अधिक हो चुकी है तो आपको अपने बच्चों के आधार कार्ड को चेंज करना होगा। जीरो से 5 वर्ष तक के बच्चे का बायोमेट्रिक नहीं लिया जाता है परंतु 5 साल के पश्चात बच्चों का बायोमेट्रिक आधार में जोड़ा जाता है। जिस वजह से 5 साल पक्ष आपके बच्चे का आधार कार्ड अपडेट होता है।

  • यदि आपका बच्चा 5 वर्ष से ऊपर हो चूका है तो आपको उसका आधार कार्ड अपडेट करना होता है। इसके लिए आपको आधार नामांकन केंद्र पर जाना होता है।
  • आपको पांच वर्ष से ऊपर के बच्चे के आधार नामांकन केंद्र पर आधार नामांकन फॉर्म भरना होता है।
  • अब आपको अपने बच्चे के आधार में उसका एड्रेस भरना होता है.यदि बच्चें का कोई valid एड्रेस नहीं है तो आपको अपना आधार लगाना होगा।
  • समस्त दस्तावेज भरने के बाद आपको आधार नामांकन केद्र पर जमा करना होगा।
  • अब आपके बच्चे का biomatric आधार नामाकन केंद्र का संचालक बच्चे के आधार में अपलोड करेगा।
  • समस्त प्रक्रिया के बाद आपको एक एनरोलमेंट स्लिप प्रदान की जाएगी.जिसे आपको सम्हाल कर रखना होगा।
  • इस एनरोलमेंट के माध्यम से आप बच्चे के आधार का स्टेटस देख सकते है।
  • इस प्रकार आप 5 सालसे ऊपर के बच्चे का आधार अपडेट कर सकते है।

सारांश –

ब्लू आधार कार्ड अर्थात बच्चो के लिए आधार कार्ड बनाने के लिए आप आधार नामांकन केंद्र जाकर अथवा postinfo मोबाइल app के माध्यम से रजिस्टर करके आप अपने बच्चे का आधार बनवा सकते है.

यह भी देखें:-

Leave a Comment